पालीगंज: इन तमाम स्वास्थ्य उपकेंद्रों पर लगे हैं ताले

मुख्यमंत्री जी! जरा वास्तविकता पर आइये. मोहन भागवत के आरक्षण की समीक्षा के वक्तव्य की गलत व्याख्या ने आपको सत्ता को दिला दी, हकदार गरीबों की हक़ को भी तो सोचिये.
जनता को समर्पित सामाजिक न्याय की सख्त सरकार की हकीकत और फलते-फूलते स्तरहीन और मापदंडविहीन निजी नर्शिंग होम्स 

जी हाँ! सामाजिक न्याय और गरीबों की सरकार है, भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस के बड़े-बड़े दावों के बीच कराहते गरीबों की दास्ताँ 

 

One thought on “पालीगंज: इन तमाम स्वास्थ्य उपकेंद्रों पर लगे हैं ताले

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *