पालीगंज की घटना प्रशासनिक विफलता: मंजूषा रंजन

Ravish Kumarपालीगंज थाना से महज चंद कदमों की दूरी पर शैलेन्द्र सिंह और उदय सिंह के बीच जानलेवा संघर्ष चलता रहा, मुखिया रविश कुमार, उदय और अजित पर जानलेवा हमला होता रहा और पालीगंज पुलिस चश्मदीद बनी रही. रविश कुमार का सर फट गया, उदय और अजित को गंभीर चोटें आयीं और घटना स्थल पर फ़ौरन पहुँच कर कार्रवाई करने से परहेज करनेवाली पालीगंज पुलिस अब फाइलों के अनुसंधान में जुटी है.

Image may contain: 1 personबाइक पार्किंग को लेकर पैदा हुए विवाद में हृदयविदारक घटना हुई, लेकिन पालीगंज एक्सप्रेस की लगातार मुहिम के बाद भी पालीगंज बाजार को जाम से निजात देने की पहल नहीं हुई. पूरा पालीगंज बाजार जाम की समस्या से जूझ रहा है, लेकिन न तो यातायात पुलिस की व्यवस्था है और न ही सब्जी बाजार और वाहन पड़ाव को अन्यत्र विस्थापित करने की पहल हो रही है. 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *