बी.बी. रंजन और मंजूषा की पहल पर खुला सियारामपुर का स्वास्थ्य उपकेन्द्र , पालीगंज एक्सप्रेस की खबर के बाद हरकत में जयवर्धन

पालीगंज अनुमंडल और नौबतपुर के सारे स्वास्थ्य उपकेंद्रों और पीएचसी एवं रेफ़रल अस्पतालों को नियमित चलाना होगा: बी.बी. रंजन

मैं बिगड़ते हालातों को अपने बूते सुधारने में सक्षम: मंजूषा

सियारामपुर के अभय ने बताया: पालीगंज एक्सप्रेस की खबर के बाद पशुचिकित्सालयों, अस्पतालों और स्कूलों की दौड़ लगाने लगे जयवर्धन. पालीगंज एक्सप्रेस इस खबर की पुष्टि नहीं करता.

जनप्रतिनिधियों और लोकसेवकों को जबाबदेह बनाने की पालीगंज एक्सप्रेस की मुहिम का असर. 

पूरी तरह बंद चल रहा स्वास्थ्य उपकेन्द्र से बदहाल सियारामपुरवासियों को अब राहत मिली है. बी.बी. रंजन ने इस बाबत सियारामपुर के पूर्व मुखिया नरेश सिंह और अभय सिंह को कॉल कर जागरूक होने की अपील की थी. नरेश सिंह ने बी.बी. रंजन को सियारामपुर उपकेन्द्र पर दवाइयों की खेप भिजवाने को ललकारा था. ललकार के एक सप्ताह के अन्दर बी.बी. रंजन ने दवाइयों की आपूर्ति होने की सूचना नरेश सिंह को दे दी थी. बी.बी. रंजन ने सियारामपुर स्वास्थ्य उपकेन्द्र को नियमित चलाने का दबाव अनुमंडलीय स्वास्थ्य उपाधीक्षक पर बनाया था. उपाधीक्षक ने त्वरित कार्रवाई का आश्वासन दिया था और प्रक्रियागत जानकारी भी दी थी.

मंजूषा ने जिला परिषद् के चुनाव में स्वास्थ्य केन्द्रों की दयनीय स्थिति पर सवाल खड़ा किया था. चुनावोपरांत मंजूषा कुमारी उर्फ़ मंजूषा रंजन और बी. बी. रंजन ने  इस मुहिम को गति दी थी और सियारामपुर गाँव से इसका श्रीगणेश किया था. सर्वप्रथम अभय सिंह और नरेश सिंह से निद्रा तोड़ने की अपील की गई. बी.बी. रंजन की ओर से उपाधीक्षक को फटकार लगाई और फिर एएनएम की सेवा सुनिश्चित की गई, दवाईयां भेजी गई. बी.बी. रंजन के दोटूक सवालों से जयवर्धन भी लड़खड़ाये और पालीगंज एक्सप्रेस की खबर के बाद उनकी भी कुम्भकरनी निद्रा एक हद तक टूटने की खबर है. 

सियारामपुर के अभय सिंह ने बी. बी. रंजन को कॉल कर सियारामपुर स्वास्थ्य उपकेन्द्र के नियमित संचालन की जानकारी दी और इस क्षेत्र में हमारी पहल को स्वीकार किया. अभय ने कहा की क्षेत्र के लोग अब संतुष्ट हैं, लेकिन बी. बी. रंजन ने उन्हें फिर उपकेंद्र पर दौरा करने का आश्वासन दिया. 

बी. बी. रंजन ने तीन बार उपाधीक्षक को फटकार लगाई थी. बताते चलें की स्वास्थ्य केन्द्रों की लापरवाही के लिए अनुमंडलाधिकारी भी समान रूप से जिम्मेदार हैं. मसौढ़ा और कल्याणपुर स्वास्थ्य उपकेन्द्र पर भी हमारी नजर है. उपाधीक्षक से शिकायत की गई है. हर उपकेन्द्र का संचालन सुनिश्चित होना चाहिए.   

पालीगंज एक्सप्रेस पालीगंज की कराहती जनता की स्थितियों को ध्यान में रखकर प्रकाशित किया जाता है. हम पालीगंज की जनता को सुरक्षित, स्वस्थ और सफल देखने के आकांक्षी हैं, जनप्रतिनिधियों को जनता के प्रति जबाबदेह बनाने के लिए प्रतिबद्ध है. 

One thought on “बी.बी. रंजन और मंजूषा की पहल पर खुला सियारामपुर का स्वास्थ्य उपकेन्द्र , पालीगंज एक्सप्रेस की खबर के बाद हरकत में जयवर्धन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *