मेरे द्वारा उठाये गए मुद्दों की सत्यता स्थापित: मंजूषा

मंजूषा ने किया अंचल कार्यालयों से दलालों को खदेड़ने का एलान. अव्यवस्था पर जनप्रतिनिधियों की चुप्पी पर सवालिया निशान.अब कार्य नहीं कर पायेंगे अघोषित दलाल: मंजूषा 

MANJUSHA RANJAN

                 मंजूषा                                सेक्रेटरी, नई सुबह सोशल  एजुकेशनल एंड चैरिटेबल ट्रस्ट                         कल्याणपुर, पालीगंज, पटना

 

जनकल्याणकारी संस्था नई सुबह की सचिव मंजूषा रंजन ने एक बार फिर जनता की समस्यायों और जनप्रतिनिधियों की चुप्पी पर सवाल खड़ा किया है.  मंजूषा ने अंचल कार्यालयों के लोकसेवकों के द्वारा भूधारकों के शोषण के खिलाफ मुहिम चलाने की जरूरत पर बल दिया था. पालीगंज एक्सप्रेस से बातचीत में मंजूषा ने कहक की जिला परिषद् के चुनाव के दौरान जारी घोषणापत्र में उन्होंने दलाल रखनेवाले कर्मियों और दलालों को रास्ता दिखाने का एलान भी किया था. तब इसे बहूत बड़ी समस्या के रूप में किसानों ने स्वीकार नहीं किया था. दुल्हिनबाजार अंचल में किसानों का हंगामा और दलालों को बंधक बनाने की मजबूरी से मेरी ललकार पर मुहर लग गयी है. किसानों को  लगान रसीद कटाने में ५०० रूपये की रिश्वत देने की मजबूरी और दाखिल-खारिज में १०,००० रूपये तक की उगाही पर किसानों की बेवशी पर जनप्रतिनिधियों की चुप्पी कटघरे में है. बकौल मंजूषा पटना बैठे विधायक और क्षेत्र में हमेशा बने रहने के दावेदारों की जनसेवा  पर सवालिया निशान है. बकौल मंजूषा ओग प्रतिनिधित्व जिसमें जनता बिचौलियों के हाथों त्रस्त हो, जब जनसेवा क्या जब भ्रष्ट लोकसेवकों के सामने जनता बेवश हो. मंजूषा ने पालीगंज के किसानों को बिचौलियों से आज़ाद कराने का एलान करते हुए राजस्वकर्मियों के सभी दलालों को अंचल कार्यालयों के खदेड़ने का खुला एलान किया है. बकौल मंजूषा अंचलाधिकारियों की मिलीभगत से दलाल राजस्व का सारा कार्य संचालित कर रहे हैं और दलालों की  अंचलाधिकारियों से उनकी अच्छी बनती है.  

One thought on “मेरे द्वारा उठाये गए मुद्दों की सत्यता स्थापित: मंजूषा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *