‘वही रे जगहिया के डीजे पर भी धमाल मचता है, लेकिन ‘रघुपति राघव’की बात ही और है: बी. बी. रंजन.

Image may contain: carकभी स्व. खदेरन बाबू और स्व. कन्हाई बाबू भी बिक्रम और पालीगंज से डिस्ट्रिक्ट बोर्ड के सदस्य हुआ करते थे, आज भी जिला परिषद् के सदस्यों का निर्वाचन होता है.
‘वही रे जगहिया के डीजे पर भी धमाल मचता है, लेकिन ‘रघुपति राघव’की बात ही और है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *